bharat ki pramukh nadiya
गंगा
गंगा भारत की पवित्रतम नदी है । सूर्यवंशी राजा भगीरथ इसे धरती पर लायें ।
उदगम स्थल उत्तर काशी जिले में गंगोत्री शिखर पर गोमुख ।
गंगा किनारे प्रमुख स्थल - ऋषिकेश , हरिद्वार , प्रयाग , काशी , पाटलीपुत्र आदि ।
गोमुख से गंगासागर तक 1450 कि  मी  लम्बाई ।

bharat ki nadiya ka map
bharat ki pramukh nadiya
bharat ki pramukh nadiya

यमुना
यमुना उदगम स्थल यमनोत्री शिखर है ।
यमुना किनारे प्रमुख स्थल – दिल्ली , मथुरा , वृन्दावन , आगरा ।
यह गंगा के समानान्तर बहते हुए प्रयाग में गंगा में मिल जाती है तथा गंगा के साथ – साथ गंगासागर तक जाती है । 

सिंधु
सिंधु नदी भारतवर्ष की ही नहीं विश्व की विशाल नदी है ।
उदगम स्थल - तिब्बत में स्थित कैलाश मानसरोवर के पास
बहाव तिब्बत में 250 कि  मी  । जम्मू कश्मीर में 550 कि  मी  । शेष 2380 कि  मी पाकिस्तान में । कुल लम्बाई 3180 कि  मी  । वैदिक संस्कृति का विकास इसी के किनारे हुआ । मोहन जोदडो व हड़प्पा संस्कृति इसी के किनारे थी । 

rivers of india in hindi wikipedia

सरस्वती
उदगम स्थल - हिमालय
बहाव - हरियाणा , राजस्थान , गुजरात होती हुई सिंधु सागर ( अरब सागर ) में मिलती है ।
वर्तमान में यह ऊपर से विलुप्त हो गई है । लेकिन आज भी हरियाणा और राजस्थान प्रदेशों में अन्दर ही अन्दर प्रवाहित होने की खोज मिल रही है । 

गण्डकी
उदगम स्थल – नेपाल में मुक्तिनाथ से थोड़ा आगे दामोदर कुण्ड से निकलती
बहाव बिहार राज्य में प्रवेश करती है और गंगा में मिल जाती है ।
इस नदी में प्राकृतिक और विभिन्न स्वरूप वाले शालिग्राम प्राप्त होते है । 

ब्रह्मपुत्र
उदगम स्थल – पवित्र मानसरोवर के पास एक विशाल हिमानी है
बहाव – तेजपुर , गुवाहाटी , डिब्रुगढ़ , शिवसागर आदि । तिब्बत में इसको सांपो तथा अरूणाचल व असम में इसे लोहित कहा जाता है ।
लम्बाई - 2900 कि  मी 

नर्मदा
उदगम स्थल - अमरकंटक से निकलकर अरब सागर तक ।
बहाव ओंकारेश्वर , मान्धाता , शुक्ल तीर्थ , भेड़घाट , जबलपुर , कपिलधारा आदि । सती अनुसूया का मन्दिर भी पास ही बना है ।
लम्बाई – 1300 कि  मी 

गोदावरी
उदगम स्थल – ब्रह्मगिरी ( त्रयंबकेश्वर , नासिक ) से निकलकर गंगासागर में मिलती है ।
बहाव - पंचवटी , पैठण , राजमहेन्द्री , भद्राचलम , नान्देड़ , कोटा , पल्ली आदि । यह दक्षिण भारत की गंगा भी कहलाती है ।
लम्बाई - 1450 कि मी  

कृष्णा 
उदगम स्थल – सह्याद्रि पर्वत माला में महाबलेश्वर के उत्तर में स्थित कराड नामक स्थान से निकलकर गंगासागर में मिलती है ।
बहाव • सतारा , सांगली , रायचूर , विजयवाड़ा , नागार्जुन सागर
लबाई - 1200 कि मी